RSS

वेदांता को विस्तार का मौका न दे सरकार

18 Mar


18 March, 2010 00:31;00visfot news network
उड़ीसा में बाक्साइट खनन में लगी वेदान्ता कंपनी को सरकार अब और अधिक विस्तार का मौका न दे. ऐसा करने से न केवल जंगलों को नुकसान का खतरा है बल्कि यहां की आदिवासी कौंध जनजाति के भी विलुप्त हो जाने का खतरा है. केन्द्र सरकार द्वारा गठित एक कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में यह संतुति दी है.

सरकारी पैनल ने वेदान्ता के प्रसावित विस्तार का एक कम्पेक्ट अध्ययन किया है. वेदान्ता के बारे में रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा लगता है कि कंपनी यहां कायदे कानून का पालन नही कर रही है और उसने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का भी उल्लंघन किया है. रिपोर्ट में माना गया है कि वेदान्ता की कंपनी स्थापित करने से पहले कौंध जनजाति को विश्वास में नहीं लिया गया और उनके संभावित नुकसान से उन्हें बचाने की कोई कोशिश नहीं की गयी. रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर वेदान्ता को विस्तार का मौका दिया गया तो कौंध जनजाति के खत्म हो जाने का खतरा है.

पर्यावरण मंत्रालय द्वारा गठित इस कमेटी में तीन सदस्य थे जिनके नाम हैं- डॉ उषा रामनाथन, डॉ विनोद रिषी और जीतेन्द्र तिवारी. इस कमेटी का गठन इसलिए किया गया था कि क्या वेदान्ता को विस्तार करने की अनुमति दी जाए या नहीं. लेकिन अपनी रिपोर्ट में वेदान्ता के खिलाफ आई इन टिप्पणियों के बाद पर्यावरण मंत्रालय द्वारा वेदान्ता को विस्तार देना मुश्किल हो जाएगा. रिपोर्ट पर्यावरण मंत्रालय को सबमिट कर दी गयी है. वेदान्ता में चर्च मिशनरियों का भी पैसा लगा हुआ है जिन्होंने नियमगिरी में वेदान्ता के खनन से नाराज होकर अपने शेयर बेच दिये थे.

वेदान्ता की इस साइट के बारे में अपन रिपोर्ट में सख्त टिप्पणी करते हुए पैनल ने कहा है कि ऐसा लगता है कि वेदान्ता कंपनी ने यह मानना ही जरूरी नहीं समझा कि उनकी इस परियोजना से कौंध जनजाति के लोगों पर भी कोई फर्क पड़ सकता है. शायद इसीलिए उन्होंने उक्त जनजाति के हितो की चिंता करना जरूरी नहीं समझा. अपनी रिपोर्ट में पैनल ने कहा है कि डोंगरिया कौंध जनजातियों को एक स्थान से हटाकर दूसरे स्थान पर बसाना संभव नहीं है. वे यहां से अलग हटे तो शायद ही अपना अस्तित्व बचाकर रख पायें.

Advertisements
 
Leave a comment

Posted by on March 18, 2010 in Uncategorized

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: